सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण पर 1 रुपये का जुर्माना लगाया, अदा नहीं करने पर होगी जेल, प्रैक्टिस पर लगा बैन।

1
91
प्रशांत भूषण

सुप्रीम कोर्ट ने आज अवमानना ​​मामले में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण पर एक रुपये का जुर्माना लगाने की सजा का ऐलान किया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि प्रशांत भूषण को 15 सितंबर तक एक रुपये का जुर्माना देना होगा। शीर्ष अदालत ने यह भी कहा है कि अगर प्रशांत भूषण जुर्माना नहीं जमा करते हैं, तो उन्हें तीन महीने की जेल और 3 साल उनकी प्रैक्टिस पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा।

मामला भूषण के वर्तमान और पूर्व मुख्य न्यायाधीश के विवादास्पद ट्वीट के बारे में है। 14 अगस्त को अदालत ने इन ट्वीट्स पर प्रशांत भूषण की स्पष्टीकरण को खारिज कर दिया और उन्हें अवमानना ​​का दोषी ठहराया। उन्हें बिना शर्त माफी मांगने का समय दिया गया था लेकिन उन्होंने माफी मांगने से इनकार कर दिया। जस्टिस अरुण मिश्रा की बेंच ने अपना फैसला सुनाया न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने प्रशांत भूषण के खिलाफ अपना फैसला सुनाया।


यह भी पढ़ें : देश : पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का 84 वर्ष की आयु में निधन, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती थे।


कंटेंप्ट ऑफ कोर्ट एक्ट के तहत सजा के तौर पर भूषण को छह महीने तक की कैद या दो हजार रुपये का जुर्माना या दोनों हो सकते थे, लेकिन अदालत ने इस मामले में उन पर केवल एक रुपये का जुर्माना लगाया है। आपको बता दें कि वकील ने एक बार भूषण के खिलाफ अवमानना ​​प्रक्रिया भी शुरू की थी, लेकिन खेद व्यक्त करने के बाद इसे वापस ले लिया था।

लेकिन अवमानना ​​के दोषी ने इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया में न्यायाधीशों के खिलाफ आरोपों को वापस नहीं लिया, जिसके कारण उन्हें आज सजा के रूप में एक रुपये का जुर्माना देने न्यायमूर्ति बीआर गवई और न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी की अध्यक्षता वाली पीठ ने न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता में कहा कि प्रशांत भूषण ने अपने बयान के लिए माफी मांगने से इनकार कर दिया है। अदालत ने इस मामले पर तब संज्ञान लिया जब प्रशांत भूषण ने अपना बयान सार्वजनिक किया।


यह भी पढ़ें : यूपी : योगी सरकार के मंत्री मोहसिन रजा भी कोरोना संक्रमित, चपेट में आए 16वें मंत्री।


प्रशांत भूषण के इस कदम को सही नहीं माना सकते सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर आज शाम 4 बजे प्रशांत भूषण अपना जवाब देंगे। अब सबकी नज़र इस बात पर है कि क्या प्रशांत भूषण इस सज़ा को स्वीकार करते हैं और एक रुपये का जुर्माना देते हैं या 3 महीने की जेल और 3 साल की प्रैक्टिस बंद करने का जोखिम उठाएंगे।