एडवोकेट समेत 45 नए लोग कोरोना संक्रमित पाए गए, सांख्य 945 पहुंची।

1
97
कोरोना

रायबरेली : कोरोना संक्रमण की गति बढ़ रही है। गुरुवार को 45 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव (Report Positive) आई। अच्छी बात यह है कि स्वस्थ होने पर 24 घंटे के भीतर 26 मरीजों को छुट्टी दे दी गई। जिले में कुल संक्रमित मामले 945 हैं। डलमऊ के मुराई का बाग निवासी एडवोकेट की रिपोर्ट गुरुवार को कोरोना पॉजिटिव (corona positive) आई। उसे तुरंत एल -1 अस्पताल भेजा गया। साथ ही, उनके पहले संपर्क में आए पांच लोगों को संगरोध केंद्र भेजा गया है।

गुरुवार को डीह CHC में 25 लोगों का एंटीजन किट के साथ परीक्षण किया गया। जिसमें मऊ निवासी एक 50 वर्षीय व्यक्ति और पूरे रेस्ट मजरे रोखा निवासी 45 वर्षीय महिला को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। सीएचसी अधीक्षक डॉ. तारिक इकबाल ने कहा कि दो संक्रमित गांवों को हॉटस्पॉट घोषित किया गया है।


यह भी पढ़ें : प्रतापगढ़ : कोर्ट क्लर्क समेत 56 कोरोना संक्रमित, जिसमें डॉक्टर की दो बेटियाँ शामिल।


इसके अलावा बस स्टेशन, मिल एरिया, देवरिया, सातवा, पुरी जटुआ टप्पा, बकुलीहा, गोसाई का पुरवा, धोबा, इंदौरा महाराजगंज, सलारपुर, बरखंडी शिवगढ़, गायत्री नगर ऊंचाहार, एनटीपीसी, पटेल नगर बछरावां के पीछे का पूरा नया इलाका। विष्णुपुरी बछरावां, मरीजों को कोडौली बछरावां, स्टेट कॉलोनी, फिरोज गांधी कॉलोनी, नेहरू नगर, बावन बुजुर्ग बॉल, संपूर्ण टप्पा मटिहा, कृष्णा नगर और राजेंद्र नगर लालगंज में पाया गया है।

महिला समेत दो लोग हुए संक्रमित

लालगंज: शहर में कोरोना इन्फेक्शन का सिलसिला जारी है। गुरुवार को दो कोरोना रोगी भी पाए गए हैं। हाल ही में एक डॉक्टर और एक मेडिकल स्टोर में काम करने वाले एक युवक सहित सात लोगों को कोरोना संक्रमित पाया गया था। गुरुवार को राजेंद्र नगर इलाके की एक महिला और कृष्णा नगर इलाके के एक युवक को कोरोना संक्रमित पाया गया।


यह भी पढ़ें : प्रतापगढ़ : प्रत्येक गाँव में सरकारी भवन सामुदायिक शौचालय बनवा रही : योगी सरकार।


एक्टिव केस 324, रिकॉर्ड 599

जिले में कोरोना रोगियों की संख्या एक हजार के करीब पहुंचने वाली है। वर्तमान में 324 सक्रिय मामले हैं। जबकि 599 लोगों को रिकवरी पर घर भेजा गया है। 22 लोग मारे गए हैं। स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी डीएस अस्थाना ने कहा कि महामारी को रोकने के लिए लोगों को लगातार जागरूक किया जा रहा है। मास्क पहेने रखे, केवल दो गज बनाकर बात करें। इस बीमारी का इलाज अभी तक खोजा नहीं सके है। इसलिए इस बीमारी से लड़ने के लिए सतर्कता सबसे बड़ा हथियार है। इसलिए सभी को सावधान रहना चाहिए।


यह भी पढ़ें : अमेठी : जिले में लगातार बढ़ रहे केस, 18 नए कोरोना संक्रमित मिले।


 

1 COMMENT

Comments are closed.