लखनऊ में लूटपाट के बाद पुरोहित की पत्नी की हत्या, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा गोद लिए गांव में हुई घटना।

0
30
पुरोहित

लखनऊ : पुरोहित दीप नारायण की पत्नी दीपका (46) की रविवार देर रात बंथरा के बेती गांव में हत्या कर दी गई थी। बदमाशों ने लूट के बाद वारदात को अंजाम दिया। दीवार काटकर घर के अंदर घुसे बदमाश आसानी से फरार हो गए और स्थानीय पुलिस सो गई। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के गोद लिए गांव में सनसनीखेज घटना से गांव दहशत में है। रास्ते में, बदमाशों ने नागेश्वर मंदिर से चांदी के मुकुट और दानपात्र भी लूट लिए। गाँव के बाहर एक खाली दान पेटी मिली। दूसरी ओर इंस्पेक्टर बंथरा रमेश चंद्र रावत ने कहा कि महिला के शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं हैं, प्रथम दृष्टया मामला संदिग्ध लग रहा है।

बेटी गाँव के निवासी पुरोहित दीप नारायण की दो पत्नियाँ हैं, दीपका और कुसुमा। रविवार की रात वह कुसुमा और चार बच्चों के साथ गांव के हनुमान मंदिर के मंच पर लेटा था। दीपिका घर पर अकेली थी। देर रात दीपिका की बदमाशों ने हत्या कर दी, जो घर के पीछे कंक्रीट की दीवार काटकर अंदर घुसे थे। परिजनों ने गला घोंटने की आशंका जताई है। घर में बिखरे सामान लूट के गवाह थे। जब ग्रामीण अभिषेक सुबह करीब पांच बजे नागेश्वर मंदिर पहुंचे, तो पता चला कि दीपका सफाई के लिए नहीं पहुंची। उन्होंने तब दीप नारायण को सूचित किया।

तब घटना का पता चला। वहीं, कमिश्नर सुजीत पांडे का कहना हैपहली नजर में यह घटना संदिग्ध लग रही है। महिला के शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं हैं। जांच के बाद स्थिति स्पष्ट होगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। घटना के बाद पुलिस के प्रति काफी गुस्सा है। ग्रामीणों का कहना है कि अगर पुलिस रात में गश्त पर सक्रिय होती, तो बदमाश आसानी से अपराध कर फरार हो जाते। पुलिस ने फिंगर प्रिंट दस्ते और डॉग स्क्वायड के साथ घटनास्थल की जांच की, लेकिन अभी तक बदमाशों का पता नहीं चल सका।