प्रतापगढ़ : निजी कंपनी के कर्मचारी समेत 60 और नए कोरोना संक्रमित मिले।

0
46
कोरोना

प्रतापगढ़ : कोरोना जिले में कहर बरपा रहा है। बुधवार को भी मरीज पाए गए। इनमें एक बैंक मैनेजर और एक निजी कंपनी के चार कर्मचारियों सहित 60 लोग शामिल हैं। तीन कर्मचारियों को श्रम प्रवर्तन कार्यालय में संक्रमित होने के कारण कार्यालय बंद कर दिया गया है। इसे सैनिटाइज किया जाएगा। इसी तरह, एक बड़ी निजी वित्तीय कंपनी का स्टेट बैंक के बगल में एक कार्यालय है। वहां के आठ मजदूर संक्रमित हो गए हैं। चार को मंगलवार को, चार को बुधवार को जांच के तहत पाया गया।

इसके बाद भी, कार्यालय हमेशा की तरह खुल रहा है। न तो स्वास्थ्य विभाग देख रहा है और न ही प्रशासन। कंपनी के जिम्मेदार भी लोगों को खतरे में डाल रहे हैं। इस बीच, सैंडवा चंद्रिका सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रतिजन के लिए 19 लोगों का परीक्षण किया गया। अंतू में एक किसान की रिपोर्ट सकारात्मक आई। उनके बेटे की रिपोर्ट मंगलवार के परीक्षण में सकारात्मक आई। उनके संपर्क के कारण पिता भी संक्रमित हो गए। मंगलवार को कुंडा के महेशगंज सीएचसी में 36 लोगों का परीक्षण किया गया।


यह भी पढ़ें : यूपी कोरोना अपडेट : यूपी में रिकॉर्ड 1.65 लाख नमूनों की जांच, 5,234 नए सकारात्मक मामले पाए गए।


भिटारा में बड़ौदा ग्रामीण बैंक के प्रबंधक सहित दो लोग संक्रमित पाए गए। राजापुर बिधान और बहोरिक के एक व्यक्ति की रिपोर्ट सकारात्मक आई। सभी को अलग-थलग कर दिया गया है। कुंडा सीएसची में, 42 लोगों की जांच की गई, जिनमें से तीन की रिपोर्ट सकारात्मक आई। पूरा शाह करम अली, काबड़ीगंज और पावर हाउस का एक-एक व्यक्ति। रानीगंज सीएचसी में बुधवार को 31 लोगों का रैपिड टेस्ट किया गया।

इसमें संडीला का एक युवक संक्रमित पाया गया। प्रीतम तिवारीपुर के एक युवक में भी संक्रमण पाया गया। कोरोना प्रभावित क्षेत्र में, नगर पालिका के साथ-साथ मा हर हर गंगे सेवा ट्रस्ट के कार्यकर्ताओं ने छिड़काव किया। इसकी निगरानी संस्थापक अश्वनी सोनी, अध्यक्ष विजय शुक्ला और मीडिया प्रभारी हिमांशु शुक्ला ने की।


यह भी पढ़ें : यूपी में गैर कोरोना रोगियों के लिए आज से OPD शुरू, अस्पतालों में प्रवेश पर सख्ती, जानिए क्या है नियम।


पीएनपी प्लस संस्था ने कोरोना काल में संघर्ष कर रही एचआईवी प्रभावित महिलाओं को कोरोना बचाव किट प्रदान की। यह वितरण बुधवार को शहर में किया गया था। मौके पर संस्था के निदेशक विनोद यादव ने कहा कि संगठन पीड़ितों को पौष्टिक भोजन भी प्रदान कर रहा है। एआरटी सेंटर जिला अस्पताल के प्रभारी डॉ। राकेश त्रिपाठी ने कहा कि एचआईवी से प्रतिरक्षा कम हो जाती है। इस स्थिति में सतर्क रहें।