लखनऊ में मुख्तार अंसारी के डालीबाग में स्थित आवासीय टॉवर को ध्वस्त कर दिया गया।

0
93
लखनऊ

लखनऊ : माफिया तथा गैंगस्टर मुख्तार अंसारी के अवैध निर्माण तथा संपत्ति पर सरकार की नजर टेढ़ी हो गई है। वाराणसी, मऊ व गाजीपुर के बाद अब लखनऊ में बहुजन समाज पार्टी के विधायक मुख्तार अंसारी की अवैध इमारतें सरकार के निशाने पर हैं। पूर्वांचल की मऊ सदर विधानसभा सीट से लखनऊ विकास प्राधिकरण (LDA) ने बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की।

लखनऊ के डालीबाग इलाके में बने मुख्तार अंसारी के एलडीए, प्रशासन और पुलिस की टीम ने गुरुवार तड़के डालीबाग कॉलोनी में मुख्तार अंसारी के अवैध कब्जे वाली दो इमारतों को ध्वस्त करना शुरू कर दिया। ये इमारतें उनके बेटों के नाम दर्ज हैं। एलडीए ने 11 अगस्त को इमारत गिराने का आदेश दिया।


यह भी पढ़ें : सुल्तानपुर : डीएम और एसपी ने जिला जेल का किया औचक निरीक्षण।


राज्य में माफियाओं की बेनामी संपत्तियों की जांच में लगे अधिकारियों ने मुख्तार अंसारी के परिवार के सदस्यों को रडार पर ले लिया है। अब मुख्तार की हजरतगंज और उससे जुड़े इलाकों की 19 संपत्तियों की जांच चल रही है। इसमें हजरतगंज-रामतीर्थ वार्ड में बारह और राजा राममोहन राय वार्ड में नौ संपत्ति हैं। कागजों में यह इमारत रईस अहमद के नाम से दर्ज है। सूत्रों ने बताया कि बिल्डिंग के पीछे मुख्तार अंसारी का नाम था।


यह भी पढ़ें : रायबरेली : कोरोना से दो शहरियों की मौत हुई, 22 नए मामले सामने आए।