बिहार विधानसभा चुनाव : आरजेडी के पूर्व प्रदेश सचिव की हत्या, तेजस्वी पर टिकट के बदले 50 लाख मांगने का आरोप।

0
21
तेजस्वी

आरजेडी के पूर्व राज्य सचिव रहे शक्ति मलिक पर टिकट के बदले में 50 लाख रुपये मांगने और जातिगत टिप्पणी करने के आरोप में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। घटना रविवार सुबह 3 बजे की बताई जा रही है। नकाबपोश बदमाश शक्ति मलिक के घर में घुस गया और ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद हमलावर मौके से फरार हो गए। शक्ति मलिक को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में खूनी खेल शुरू हो गया है। पूर्णिया में, राजद के एससी / एसटी सेल के पूर्व राज्य सचिव शक्ति मलिक की आज सुबह नकाबपोश बदमाशों ने हत्या कर दी। घटना के समय उनकी पत्नी, बच्चे और ड्राइवर उनके घर पर मौजूद थे। गोलियां चलाने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए। जल्दबाजी में शक्ति को सदर अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

परिवार ने तेजस्वी यादव पर लगाया आरोप

शक्ति मलिक की हत्या के बाद बिहार का चुनावी माहौल और भी गर्म हो गया है। इस मामले में, विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव, अनिल साधु पर शक्ति मलिक की पत्नी और रिश्तेदारों द्वारा हत्या का आरोप लगाया गया है। इसके अलावा, राजनीतिक दुर्भावना में हत्या का संदेह व्यक्त करते हुए अररिया राजद नेताओं कालो पासवान और सुनीता देवी का भी नाम रखा गया है।

घटना की सूचना मिलते ही सदर एसडीपीओ आनंद कुमार पांडेय सदर अस्पताल पहुंचे। उन्होंने शक्ति के परिवार से बात की। परिवार ने घटना के बारे में बात करते हुए सीधे तेजस्वी यादव और अनिल साधू का नाम लिया है। परिवार वालों का आरोप है कि शक्ति को जान से मारने की धमकी दी जा रही थी।

आपको बता दें कि शक्ति मलिक ने अपने हालिया मीडिया बयान में तेजस्वी यादव पर आरोप लगाया था कि जब वह SC / ST सेल के राज्य सचिव थे, तब तेजस्वी को रानीगंज विधानसभा से RJD के टिकट पर चुनाव लड़ने की बात करनी थी। जब वे गए, तो तेजस्वी यादव ने उनसे 50 लाख रुपये की मांग की और मना करने के बाद, जाति पर टिप्पणी करके उन्हें भगा दिया गया।