अमेठी : पुलिस अधीक्षक कार्यालय में तीन दिनों की रिपोर्ट तीस दिन में भी नहीं आई।

1
27
पुलिस

अमेठी : दलित उत्पीड़न के मामलों में, पीड़ित को वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। सरकार इस बारे में बहुत गंभीर है। इसके बाद भी जिम्मेदारों की लापरवाही समझ से परे है। जो रिपोर्ट कानून के तहत तीन दिनों में पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आनी चाहिए। वह एक महीने बाद भी नहीं आ पा रही है। देर से परिवार को पीड़ित की कीमत चुकानी पड़ती है। अपराध पीड़ित दलित परिवार को तत्काल राहत प्रदान करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने की एक प्रणाली है। जो उन्हें तीन किस्तों में देने की व्यवस्था है। लेकिन, जब पहली किश्त समय पर नहीं मिलती है।

38 मामले अभी भी रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं


यह भी पढ़ें : इलाहाबाद हाईकोर्ट : यूपी सरकार को नोटिस भेजा, लखनऊ खंडपीठ ने संज्ञान में लिया हाथरस मामला।


पुलिस कार्यालय अभी भी 38 मामलों में रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है। लापरवाही का आलम यह है कि उच्चाधिकारियों के आदेश के बाद भी जिम्मेदार चेतने का नाम नहीं ले रहे हैं। मुसाफिरखाना सर्कल के जगदीशपुर, कमरौली, बजरशुकुल और मुसाफिरखाना के 18 मामलों में कागजी कोरम की कमी है। अमेठी सर्कल के आठ, गौरीगंज और तिलोई सर्कल के छह मामले अटके हुए हैं। तीन में कौन सी रिपोर्ट आनी चाहिए थी। 30 दिन बीत जाने के बाद भी वह नहीं आ पाई है।

1.25 करोड़ से ज्यादा पीड़ितों को 1.5 करोड़ से ज्यादा की मदद लेनी है

जिले के 224 पीड़ितों को एक करोड़ 67 लाख की सहायता दी जानी है। कोरम के कारण जो पेपर अटका हुआ है वह समय पर पूरा नहीं हो पा रहा है। यह फाइल पुलिस कार्यालय, समाज कल्याण और जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय के बीच चल रही है। अब देखना होगा कि उन्हें कब मदद मिलती है।


यह भी पढ़ें : हाथरस कांड : लखनऊ में सपा का विरोध, जगह-जगह हुए लाठीचार्ज, हिरासत में सभी विधायक।


तीन दिन में दी जाएगी रिपोर्ट : पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने कहा कि सभी न्यायालयों को आदेश दिया गया है कि वे हर तीन दिन में दलित उत्पीड़न के मामलों में वित्तीय मदद के लिए रिपोर्ट करें। अब सीधे लापरवाही बरती जाएगी।

लापरवाही मिलने पर कार्रवाई की जाएगी : जिलाधिकारी अरुण कुमार ने कहा कि दलित पीड़ितों की मदद के मामले में किसी भी मंच पर लापरवाही नहीं हुई है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। सीडीओ पूरे मामले की जांच कर रहे हैं।

1 COMMENT

Comments are closed.