अमेठी : अधिकारी डीएम को सरकार के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

1
101
विकास

अमेठी : बुधवार को जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में सरकार के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों (71 अंक) की समीक्षा बैठक हुई। उन्होंने संबंधित विभाग के अधिकारियों को अपने विभाग की योजनाओं / कार्यक्रमों के लक्ष्यों को निर्धारित समय सीमा के भीतर पूरा करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को सरकार के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों पर विशेष ध्यान देना चाहिए। इसमें कभी किसी तरह की ढिलाई नहीं होनी चाहिए।

सरकार के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की विभागवार/योजनावार समीक्षा के दौरान, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण के अंतर्गत डीएम, डॉक्टरों, दवाओं की उपलब्धता, स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति, टीकाकरण आदि, पंचायती राज विभाग के तहत राज्य / 14 वें वित्त आयोग, राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान, छात्रवृत्ति योजना वितरण, सामाजिक कल्याण के तहत सामाजिक सामूहिक विवाह योजना, पेंशन योजना शारीरिक/त्तीय, विकलांग सशक्तीकरण योजना, परिवीक्षा विभाग की 181 महिला हेल्पलाइन योजना, ग्राम विकास के तहत मुख्यमंत्री सम्पूर्ण


यह भी पढ़ें : यूपी : अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के कारण बच्चे की मौत, विरोध करने पर मां को बंधक बना लिया।


ग्राम विकास योजना की अधोसंरचना सुविधाएं, मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण, राष्ट्रीय ग्रामीण आजिविका मिशन, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन, धान अधिप्राप्ति, खाद्य और रसद के तहत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से खाद्यान्न वितरण की प्रगति के बारे में जानकारी प्राप्त की और संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अपने-अपने विभाग की योजनाओं के लक्ष्यों को समय से पूरा करें। समीक्षा बैठक में, उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग के तहत, जिले में नई सड़कों का निर्माण, पुलों का निर्माण, गड्ढों को मुक्त करना, बिजली की आपूर्ति, गांवों को ऊर्जावान बनाना, समीक्षा में सरकार के रोस्टर के अनुसार ट्रांसफार्मर को बदलना।

बिजली विभाग की उपलब्धता और कृषि विभाग के अंतर्गत खाद और बीज की उपलब्धता, फसल ऋण मोचन योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, ग्रामीण विकास, ग्रामीण और शहरी, बाल विकास और पोषण, पंचायती राज, लघु सिंचाई और वन के तहत प्रधानमंत्री आवास योजना। बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि जनकल्याणकारी योजनाओं/कार्यक्रमों से लाभान्वित होने वाले लाभार्थियों का सत्यापन भी किया जाना चाहिए। उन्होंने बैठक में उपस्थित अधिकारियों को अपने-अपने विभागों की योजनाओं/कार्यक्रमों को पूरा करने के लिए विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया।


यह भी पढ़ें : अमेठी : पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की बढ़ी मुश्किलें, अभी जेल में ही रहना होगा।


यदि कोई कठिनाई है, तो तुरंत मुझसे संपर्क करें और इसे हल करें। सभी अधिकारी अपने-अपने कार्यालयों में समय पर पहुंचें और मौके पर ही जनता की समस्याओं का समाधान सुनिश्चित करें। इस अवसर पर मुख्य श्रीवास्तव, प्रभागीय वनाधिकारी यूपी सिंह, उप कृषि निदेशक सत्येंद्र चौहान, परियोजना निदेशक आशुतोष दुबे, जिला पंचायत राज अधिकारी श्रेया मिश्रा, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी विनोद मिश्रा, कार्यकारी अभियंता, लोकसभा/प्रांतीय प्रभाग, कार्यकारी अभियंता जल निगम, आदि हैं।