अमेठी : पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा, जल्द दाखिल होगी कोर्ट में याचिका।

2
50
गायत्री प्रजापति

राज्य सरकार के पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। गोमती नगर एक्सटेंशन पुलिस की गिरफ्त में आए मामले की जांच तेजी से जोर पकड़ रही है। पुलिस ने पूर्व मंत्री को पूछताछ के लिए रिमांड पर लेने की तैयारी कर ली है। जल्द ही इसकी याचिका कोर्ट में दायर की जाएगी। वहीं, पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की बेटी सुधा ब्रज भवन चौबे ने गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि चौबे ने पैसे मांगे।

नहीं दिया तो मुकदमा दर्ज कर दिया। मुख्यमंत्री सहित DGP और अतिरिक्त प्रधान सचिव गृह को शिकायत की गई। पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के खिलाफ गोमती नगर एक्सटेंशन पुलिस स्टेशन में मुकदमा दर्ज किया गया है। उनका बेटा अनिल भी मामले में एक आरोपी है। पूर्व मंत्री को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। जबकि अनिल की तलाश की जा रही है।


यह भी पढ़ें : यूपी : सीएम योगी ने हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिवार से की बात, घर, नौकरी और 25 लाख रुपए की घोषणा की।


इंस्पेक्टर प्रभारी अखिलेश चंद्र पांडे के मुताबिक, इस मामले में पूर्व मंत्री का रिमांड लिया जाएगा। ताकि उनके साथ विचार-विमर्श से संबंधित कई प्रश्न किए जा सकें, पूरी तैयारी की गई है। सभी दस्तावेजों को उच्च अधिकारियों को दिखाया गया है। उनके निर्देश मिलते ही कोर्ट में याचिका दायर की जाएगी।

पूर्व मंत्री की बेटी ने बृज भवन चौबे पर वसूली का आरोप लगाया

पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की बेटी सुधा प्रजापति ने कहा कि बृज भवन चौबे ने बेबुनियाद आरोप लगाते हुए मुकदमा दायर किया है। सुधा के मुताबिक, उनके पिता की कोई कंपनी नहीं है। जिसके निर्देशक बृजमोहन चौबे खुद बता रहे हैं। इसका प्रमाण 2017 के विधानसभा चुनाव में पिता द्वारा दायर हलफनामा है। बृज भवन चौबे, राम सिंह दिनेश त्रिपाठी, सुनील मिश्रा, और अंशु भगवान मेरे पिता से पैसे मांगने वाले गिरोह का गठन कर रहे हैं।


यह भी पढ़ें : सीएम योगी ने गोरखपुर सांसद रवि किशन को दी Y+ सिक्योरिटी, बोले धन्यवाद।


16 सितंबर को उन्होंने मुख्यमंत्री से शिकायत की। ब्रज भवन चौबे ने कुछ लोगों को मेरे घर भेजा और संदेश मिला कि अगर वे 10 करोड़ रुपये देंगे, तो वे इसे बर्बाद कर देंगे। पैसा नहीं मिलने पर उसने मुकदमा दर्ज कराया। सुधा के अनुसार, ब्रज भवन चौबे भी झूठ बोल रहे हैं कि वह 2017 में अपने पिता से मिलने जेल गए थे। उन्होंने कहा कि इसकी सच्चाई जानने के लिए पुलिस को इन सभी की कॉल डिटेल निकालनी चाहिए और जेल में मुलाकात करने वालों की सूची की जांच करनी चाहिए और फिर वास्तविकता सामने आएगी।

2 COMMENTS

Comments are closed.